Name Logo

ई-श्रम कार्ड कौन बनवा सकता हैं और क्या है फायदे.. जल्दी कराएँ मुफ्त पंजीकरण और अपना कार्ड बनवाएँ

 

ई-श्रम कार्ड बनवाने के लिए 156 कैटेगिरी सरकार द्वारा की गई हैं निर्धारित, मजदूर हो या नौकरी करने वाला या हो कोई छोटा व्यापारी ले सकते हैं इस योजना में लाभ


भारत सरकार के श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने श्रमिकों का डेटा एकत्रित करने व श्रमिकों को उनके सामर्थ्य व क्षमता के अनुसार भविष्य में सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने हेतु नई सर्विस का शुभारंभ 26 अगस्त 2021 को कर दिया है। जिसमें कॉमन सर्विस सेंटर का महत्वपूर्ण योगदान है। 


देशभर के 38 करोड़ से भी ज्यादा असंगठित कामगार व श्रमिकों का कॉमन सर्विस सेंटर के माध्यम से भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय डेटाबेस तैयार किया जा रहा है। जिसके तहत श्रमिकों का ई-श्रम पोर्टल पर मुफ़्त रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। तथा रजिस्ट्रेशन के उपरांत श्रमिक को एक आई डी कार्ड उपलब्ध कराया जाता है। 

ई श्रम कार्ड किसी भी नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर बनवाया जा सकता है, जिसके पंजीकरण मुफ़्त किये जा रहे हैं।


ई- श्रम कार्ड बनवाने के लिए किस दस्तावेजों की आवश्यकता होगी और ये कार्ड कहाँ से तैयार होगा और इसके क्या होंगे फायदे?

ई-श्रम कार्ड वो ही लोग बनवा सकते हैं जो आयकर करदाता या EPF खाता धारक ना हों।

आइये देखते हैं असंगठित कामगार या श्रमिकों में कौन कौन शामिल हैं-


असंगठित श्रमिकों कौन हो सकते है :- छोटे और सीमांत किसान, खेतिहर मजदूर, शेयर क्रॉपर्स, मछुआरों पशुपालन में लगे लोग, बीड़ी रोलिंग, लेबलिंग और पैकिंग, भवन और निर्माण श्रमिक, चमड़े के कर्मचारी, बुनकर, बढ़ई, नमक कार्यकर्ता, ईंट भट्ठों और पत्थर की खदानों में काम करने वाले मजदूर, आरा मिलों में काम करने वाले, दाइयों, घरेलू श्रमिक, नाइयों, सब्जी और फल विक्रेता, समाचार पत्र विक्रेता, रिक्शा खींचने वाले, ऑटो चालक, रेशम उत्पादन कार्यकर्ता, बढ़ई, टेनरी कार्यकर्ता, सामान्य सेवा केंद्र, घर की नौकरानी, सड़क विक्रेताओं, मनरेगा कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, दूध डालने वाले किसान, प्रवासी मजदूरों।

इसके लिये नीचे आपको सम्पूर्ण जानकारी दी जा रही है।





Post a Comment

1 Comments

Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)